हीट स्ट्रोक से ट्रैफिक जवान की मौत, अब एक करोड़ मुआवजा, शहीद का दर्जा और सरकारी नौकरी देने की मांग |
Breaking NewsCGTOP36छत्तीसगढ़राज्य

हीट स्ट्रोक से ट्रैफिक जवान की मौत, अब एक करोड़ मुआवजा, शहीद का दर्जा और सरकारी नौकरी देने की मांग

छत्तीसगढ़।   जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) मुख्य प्रवक्ता अधिवक्ता भगवानू नायक ने कहा प्रदेश में हिट वेय चल रहा है, ऐसे में हीट स्ट्रोक, लू की चपेट में आकर राजधानी के एक ट्रैफिक आरक्षक जवान भागीरथी कंवर की जान चली गई जिस पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए शासन से मृतक ट्रैफिक जवान को शहीद का दर्जा देने, आश्रित परिजनों को एक करोड रुपए मुआवजा और शासकीय नौकरी देने देने की मांग की है।

उन्होंने कहा जानकारी के मुताबिक ट्रैफिक आरक्षक जवान भागीरथी कंवर की मृत्यु ड्यूटी में जाने दौरान हुई है। एक तरफ आग उगलती भीषण गर्मी में लोग अपने आप को सुरक्षित रखने के लिए घर से बाहर नहीं निकल रहे है, लोग गर्मी से बचाव के लिए एसी कूलर का उपयोग कर रहे है। ऐसी स्थिति में भी शहर की जनता की हित, जनता की सुरक्षा और लोगों को दुर्घटना से बचाने के लिए ट्रैफिक जवान चौक चौराहे में तैनात होकर अपनी ड्यूटी पूरे ईमानदारी के साथ कर रहे है।

ऐसे में यदि कोई ट्रैफिक जवान की ड्यूटी के दौरान लू से मृत्यु हो जाती है तो वह देश सेवा से कम नहीं है, ऐसे मृतक जवान को भी शहीद का दर्जा मिलना चाहिए। उन्होंने कहा वैसे तो आमतौर पर युद्ध या विशेष ऑपरेशन के दौरान जान गवाने वाले जवानों को ही शहीद का दर्जा मिलता है लेकिन वतन के लिए , देश की सेवा करते हुए कुर्बानी देता है उसे भी शहीद का दर्जा मिलना चाहिए । उ

देश भर सहित राजस्थान राज्य में भी भीषण गर्मी पड़ रही

न्होंने कहा जानकारी के अनुसार देश भर सहित राजस्थान राज्य में भी भीषण गर्मी पड़ रही है वहां बॉर्डर में ड्यूटी के दौरान एक जवान की भी लू मृत्यु होने से शहीद हो गए हैं। भीषण गर्मी को ध्यान में रखकर माननीय उच्च न्यायालय, राजस्थान के द्वारा लू की चपेट में आकर मरने वाले आश्रितों को मुआवजा देने सरकार को निर्देश दिया है। वहीं छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व परिपत्र की धरा 6(4) में भी लू की चपेट में आकर मृत्यु होने पर आश्रित परिजन कलेक्टर को आवेदन प्रस्तुत कर सकते है। इसके अतिरिक्त हिट वेय में ट्रैफिक जवानों को दोपहर में 2-3 घंटे अवकाश दिया देने की भी मांग सरकार से किया है।

Related Articles

Back to top button