कांग्रेस के राम मंदिर के न्योते को ठुकराने पर सचिन पायलट ने दिया बड़ा बयान, कहा-अगर धर्म के आड़ में राजनीति हो रही है तो उसे कोई स्वीकार नहीं करेगा |
CGTOP36छत्तीसगढ़राज्य

कांग्रेस के राम मंदिर के न्योते को ठुकराने पर सचिन पायलट ने दिया बड़ा बयान, कहा-अगर धर्म के आड़ में राजनीति हो रही है तो उसे कोई स्वीकार नहीं करेगा

रायपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस प्रभारी के सचिन पायलट आज से दो दिवसीय दौरे के तहत रायपुर पहुंचे। इस दौरान कांग्रेस पार्टी द्वारा श्रीराम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के न्योते को ठुकराए जाने के सवाल पर सचिन पायलट ने कहा, राजनीति और धर्म को अलग-अलग रखना चाहिए।

अगर धर्म के आड़ में राजनीति हो रही है तो उसे कोई स्वीकार नहीं करेगा। हम जनता के मुद्दों, विकास, शिक्षा, रोजगार पर चर्चा करना चाहते हैं, लेकिन भाजपा इसपर चर्चा के लिए तैयार नहीं है। भावनात्मक मुद्दों के आड़ में वोट लेना भाजपा की परंपरा रही है। कोई कभी भी मंदिर जा सकता है लेकिन इस तरह का जो राजनीतिकरण हो रहा है उसे कांग्रेस पार्टी ने गलत माना है।

रायपुर एयरपोर्ट पर कांग्रेस कार्यकतार्ओं ने सचिन पायलट का भव्य स्वागत किया। इसके बाद एयरपोर्ट से सचिन पायलट का काफिला राजीव भवन के लिए रवाना हो गया। इस दौरान एयरपोर्ट से कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन तक सचिन पायलट का जगह-जगह स्वागत किया गया।

READ MORE- 22 जनवरी को एक दिया कौशल्या के राम और छत्तीसगढ़ के भांचा प्रभु श्रीराम के नाम जलाएं- MLA रेणुका सिंह

दोपहर तीन बजे राजीव भवन रायपुर में आयोजित विस्तारित बैठक में भाग लेंगे। 12 जनवरी शुक्रवार को सुबह 11 बजे राजीव भवन रायपुर में आयोजित प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में भाग लेंगे। दोपहर 2.15 बजे इंडिगो की नियमित विमान सेवा द्वारा रायपुर से नई दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक 11 जनवरी को होगी। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में दोपहर तीन बजे प्रदेश कार्यकारिणी (कोषाध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महामंत्री, कार्य. सदस्य, संयुक्त महामंत्री एवं सचिव), एआइसीसी के सभी सदस्य, विधायक, प्रत्याशी, जिला व शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सहित मोर्चा, संगठन, प्रकोष्ठ विभाग के प्रदेश अध्यक्ष मौजूद रहेंगे।

बैठक में भारत जोड़ो न्याय यात्रा की तैयारी और लोकसभा चुनाव पर चर्चा की जाएगी। इस दौरान सभी 11 लोकसभा क्षेत्रों में मौजूदा राजनीतिक परिस्थितियों की पूरी रिपोर्ट लेंगे। कुछ दिनों पहले दिल्ली दौरे से लौटे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा था कि नए प्रभारी का मार्गदर्शन लिया जाएगा। कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज ने भी दिल्ली में उनसे मुलाकात की थी।

Related Articles

Back to top button