NEET UG Result मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, परिणाम रद्द करने की हो रही मांग, लाखों छात्र अधर में |
Breaking NewsCGTOP36देश विदेश

NEET UG Result मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, परिणाम रद्द करने की हो रही मांग, लाखों छात्र अधर में

NEET के रिजल्ट आए तीन दिन बीत चुके हैं लेकिन छात्रों में भ्रम आज भी बरकरार है. लाखों बच्चों को समझ नहीं आ रहा कि वे एनटीए (NTA) ने जो नतीजे घोषित किए हैं, क्या उन्हें ही आखिरी मान लें, या फिर दोबारा परीक्षा की तैयारी में जुट जाएं?

नीट परीक्षा का मामला सुप्रीम कोर्ट (supreme court) पहुंच गया है. कथित गड़बड़ियों को लेकर फिर से परीक्षा कराने की मांग की गई है . NEET UG परीक्षा को कराने वाली संस्था है नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की अपनी दलील है कि इस साल प्रश्न पत्र आसान दे दिया गया था और ज्यादा परीक्षार्थियों के परीक्षा में एप्पियर होने के कारण इस तरह के बडे रिजल्ट आए, जिसमें बहुत सारे लोग टॉप कर गए हैं, यह देखने को मिला है .

इस साल 67 छात्रों ने एक साथ टॉप किया है. इन छात्रों को 720 में से 720 अंक मिले हैं. आज तक कभी भी इतनी संख्या में एक साथ छात्र टॉपर नहीं हुए हैं. 2021 में तीन छात्र टॉप पर गए थे. आम तौर पर एक या दो छात्र ही टॉप कर पाते हैं, यानी नंबर वन की रैंक को वे शेयर करते हैं. अमूमन ऐसे एक, दो या अधिकतम तीन छात्र होते हैं. लेकिन इस बार 67 छात्रों ने एक साथ टॉप किया है .

Read Also – अजब प्रेम की गजब कहानी – इंस्टा पर हुवा दो लड़कियों को आपस में प्यार, 600 किमी दूर पहुंची शादी करने, फिर…

NEET UG Result 2024 : आपको बता दें कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने पहले तो नीट यूजी 2024 का रिजल्ट निर्धारित समय से 10 दिन पहले जारी करके चौंका दिया. इसके बाद कैंडिडेट्स रिजल्ट देखकर सदमे में आ गए. 67 स्टूडेंट्स ने नीट यूजी 2024 रिजल्ट में पहली रैंक हासिल की है. इन सभी को 720 में से पूरे 720 अंक मिले हैं. साथ ही सीरियल नंबर 62 से लेकर 69 तक के नीट रोल नंबर एक ही सेंटर या आसपास के सेंटर से हैं. इनमें सें आठ में से छह स्टूडेंट्स को 720 में से 720 अंक, अन्य दो को 719, 718 अंक मिले हैं. इसका स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर जर्बदस्त तरीके से वायरल हो रहा है. लोगों का पहला सवाल तो यही है कि 719 और 718 अंक कैसे मिल सकते हैं.

सवालों के घेरे में नीट यूजी रिजल्ट

स्टूडेंट्स का कहन है कि हर सवाल चार नंबर का होता है. गलत जवाब देने पर एक अंक कटते हैं मतलब निगेटिव मार्किंग होती है. अगर कोई छात्र सभी सवालों के सही जवाब देता है तो उसे 720 में से 720 अंक मिलेंगे. अगर एक सवाल छोड़ देता है तो 716 अंक मिलेंगे. जबकि यदि कोई एक सवाल गलत करता है तो उसे 715 अंक मिलेंगे. विशाखा सुमन नाम की कैंडिडेट को 719 और यश कटारिया को 718 अंक मिले हैं. ऐसा कैसे हुआ.

इसके चलते सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर #Neet_paper_रद्द_करो हैश टैग के साथ कई स्टूडेंट्स रिजल्ट में धांधली के आरोप लगा रहे हैं. एनटीए ने अब स्टूडेंट्स के आरोपों पर सफाई देते हुए बताया है कि किस तरह 719 और 718 अंक मिले हैं. कई लोग एनटीए की ओर मामले पर दी गई सफाई से भी संतुष्ट नहीं हैं. उनका कहना है कि इन्फॉर्मेशन ब्रोशर में यह जानकारी क्यों नहीं दी गई. NEET UG 2024: रोज 6 घंटे पढ़ाई, 2 साल तक की तैयारी, बन गए नीट यूजी टॉपर, अब यहां लेंगे एडमिशन

Related Articles

Back to top button