उत्तर प्रदेशदेश विदेश

अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए ट्रस्ट का गठन, सभी को हिन्दू होना जरुरी

अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए ट्रस्ट का गठन कर दिया गया है। पीएम मोदी ने संसद में ट्रस्ट के गठन का एलान किया है। आपको बता दें कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के नाम से गठित इस 15 सदस्यों की ट्रस्ट में एक ट्रस्टी अनिवार्य रूप से दलित होगा।

बता दें कि ट्रस्ट के डीड में ही इसके नौ सदस्यों के नाम दे दिए गए हैं, जिनमें रामलला को सुप्रीम कोर्ट में जीत दिलाने वाले रामभक्त के. परासरन का नाम सबसे ऊपर है। इसके साथ ही 1989 में राम मंदिर का शिलान्यास करने वाले दलित कामेश्वर चौपाल का भी नाम इसमें शामिल है।

गृहमंत्रालय ने बुधवार को 100 रुपये के स्टांप पेपर पर ट्रस्ट को पंजीकृत कराया है और । ट्रस्ट के डीड उल्लेख है कि इसके गठन के बाद सरकार की इसमें कोई भूमिका नहीं होगी और यह सरकारी दखल से पूरी तरह मुक्त होगा।

ट्रस्ट को राम मंदिर निर्माण और उसके रखरखाव के लिए धन जुटाने और उसके प्रबंधन की भी पूरी स्वतंत्रता होगी। बताया गया कि ट्रस्ट के सभी सदस्यों का हिंदू धर्म को मानने वाला होना आवश्यक है। केंद्र सरकार की ओर से ऐसे सदस्य को ट्रस्ट में नियुक्त किया जाएगा, जो आइएएस अधिकारी होगा और संयुक्त सचिव के पद से नीचे के स्तर का नहीं होगा।

|

Related Articles

Back to top button