खेल जगतजरा हटकेदेश विदेश

मिताली राज नहीं खेलना चाहती थी क्रिकेट, ये थी उनकी पहली पसंद

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान मिताली राज की गिनती दुनिया के सबसे बेहतरीन महिला क्रिकेटरों में होती है। गौरतलब है कि मिताली राज को महिला क्रिकेट का सचिन तेंदुलकर भी कहा जाता है। मिताली की वजह से ही भारत में महिला क्रिकेट ने नई बुलंदिया छुई।

बता दे कि महिला क्रिकेट में मिताली के नाम कई बड़े कीर्तिमान दर्ज हैं। आप में से बहुत कम लोग मिताली राज की लाइफ के बारे में जानते होंगे। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान मिताली राज का जन्म 3 दिसंबर 1982 को जोधपुर में हुआ था और वह एक वायु सेना अधिकारी की बेटी हैं। उन्होंने महज 10 साल की उम्र से क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था। मिताली राज एक तमिल परिवार से आती है।

बता दें कि मिताली राज क्रिकेटर नहीं डांसर बनना चाहती थी। शुरूआती दिनों में मिताली ने भरतनाट्यम सीखा और उसी क्षेत्र में अपना नाम बनाना चाहती थी पर किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। उन्होंने फिर क्रिकेट खेलना शुरू किया और फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और मिताली भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सबसे सफल खिलाड़ियों में से एक बन गई।

एक मीडिया के साथ एक इंटरव्यू में मिताली राज ने खुलासा किया कि अगर वह क्रिकेटर नहीं होती और क्या करती। मिताली ने इसका खुलासा करते हुए कहा कि अगर वह क्रिकेटर नहीं होती तो वह सिविल सर्विसेज में जाना पसंद करती। उन्होंने कहा कि हालांकि मैं भरतनाट्यम को पसंद करती थी और इसको लेकर सीरियस भी थी लेकिन मुझे सिविल सेवाओं में जाना पसंद था।

|

Related Articles

Back to top button