देश विदेश

स्मृति ईरानी का जन्मदिन है आज, अमेठी से हैं चुनावी मैदान में… जानिए उनके बारे में

स्मृति ज़ुबिन ईरानी का जन्म 23 मार्च 1976 को दिल्ली में हुआ और उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में ही शिक्षा ग्रहण की।

स्मृति ईरानी एक ऐसा नाम जिसने टेलीविजन से लेकर राजनीति तक के सफर में अपनी एक अलग पहचान कायम की. आज केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का जन्मदिन है. तो चलिए जानते हैं मॉडलिंग से टेलीविजन और फिर राजनीतिक तक का उनका सफर, जो बाकि महिलाओं के लिए एक प्रेरणा है।

स्मृति ईरानी का जन्म 23 मार्च 1976 को दिल्ली में हुआ था. 43 साल की स्मृति अपनी 3 बहनों में सबसे बड़ी है. मॉडलिंग में प्रवेश करने से पहले, वह मैकडॉनल्ड्स में वेट्रेस और क्लीनर के पद पर कार्य कर चुकी हैं।

इसके बाद वो मॉडलिंग में किस्मत आजमाया. इस दौरान वो मिस इंडिया की रेस में भी शामिल हुईं. स्मृति 1998 में मिस इंडिया की फाइनल तक पहुंची. उस वक्त शायद ही स्मृति ने सोचा होगा कि वो राजनीति में उतर कर अपनी एक अलग शख्सियत से लोगों को रूबरू कराएंगी। मॉडलिंग करते-करते स्मृति को टीवी सीरियल में पहला काम ‘आतिश’ में मिला।

उसके बाद उन्होंने कई सीरियल किए, लेकिन असली पहचान उन्हें एकता कपूर की सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ से मिली. इस सीरियल में स्मृति ने तुलसी वीरानी का रोल निभाया था.मॉडलिंग से टेलीविजन तक का सफर तय करने के लिए स्मृति ईरानी के लिए थोड़ा मुश्किल रहा, लेकिन टेलीविजन से राजनीतिक तक का सफर तय करने के लिए स्मृति ईरानी को ज्यादा संघर्ष नहीं करना पड़ा।

स्मृति ईरानी इस बात को खुद कई बार मान चुकी हैं कि टीवी ने उऩ्हें ऐसी पहचान दी, जिससे उन्हें राजनीति में एंट्री का मौका मिला।

स्मृति ईरानी ने साल 2003 में भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन की थी. ज्वाइन करने के एक साल बाद ही उन्हें महाराष्ट्र की यूथ विंग का वाइस प्रेसिडेंट बना दिया गया. 2014 में वो अमेठी से राहुल गांधी के विरोध में चुनाव लड़ी।

हालांकि वो राहुल गांधी को मात नहीं दे सकी. इसके बावजूद उन्हें मंत्री पद मिल गया. मोदी सरकार में उन्हें मानव संसाधन विकास मंत्री की बड़ी जिम्मेदारी दी गई. लेकिन कुछ विवाद होने के बाद स्मृति को इस मंत्रालय से हटाकर कपड़ा मंत्रालय भेज दिया गया।

इस बार के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी को फिर से बीजेपी ने अमेठी से टिकट दिया है. स्मृति ईरानी ने कहा है कि वो राहुल गांधी से ज्यादा अमेठी का दौरा किया है और लोगों के लिए काम किया है. इसलिए वो इस बार जीत को लेकर पूरी तरह आश्वसत हैं।

|

Related Articles

Back to top button