छत्तीसगढ़ में सबसे पहले आएगा कांकेर का रिजल्ट तो सरगुजा का सबसे आखिर में, जानिए कैसा होगा गणित – INH24 |
छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में सबसे पहले आएगा कांकेर का रिजल्ट तो सरगुजा का सबसे आखिर में, जानिए कैसा होगा गणित – INH24


छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव के मतदान के बाद मतगणना की तैयारी शुरू हो गई है। प्रदेश के सभी 33 जिलों में मतगणना होगी। मतगणना के अनुसार कांकेर लोकसभा का परिणाम सबसे पहले और सरगुजा के नतीजे सबसे अंत में आने की संभावना है। निर्वाचन आयोग द्वारा सभी कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। हर लोकसभा क्षेत्र के डाक मतपत्र की गिनती संसदीय क्षेत्र मुख्यालय में एक  ही स्थान  पर लोकसभा क्षेत्र में शामिल क्षेत्रों  विधानसभा के हिसाब से मतगणना होगी। राज्य मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार राज्य की 11 लोकसभा क्षेत्रों के लिए प्राप्त पोस्टल बैलेट की गिनती संसदीय क्षेत्र के मुख्यालय में होगी। सभी ईवीएम जिला मुख्यालयों में कड़ी सुरक्षा के बीच रखे गए हैं। मतगणना के लिए कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

मतगणना के लिए माइक्रो आब्जर्वर की देखरेख में पूरा कार्य रिटर्निंग और सहायक रिटर्निंग अफसरों के माध्यम से पूरा कराया जाएगा। निर्वाचन हर लोकसभा के विधानसभाओं के आधार पर 14-14 टेबल लगाई जाएंगी। इसके साथ ही सभी विधानसभाओं में 60 कर्मचारियों की ड्यूटी लगेगी। यहां 7 काउंटिंग अफसरों के साथ सहायक रिटर्निंग अधिकारी और माइक्रो आब्जर्वर मौजूद रहेंगे। सभी जिलों में डाक मतपत्रों की गिनती पहले होगी। डाक मतपत्रों की गिनती के लिए 110 सहायक रिटर्निंग अफसर लगाए जाएंगे। मतगणना में कुल 1302 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी।

इन अफसरों को दी जा रही ट्रेनिंग

मतगणना के लिए जिले के आरओ, डिप्टी डीईओ, एआरओ, एएआरओ, ईव्हीएम प्रभारी, पीबी नोडल, टेबुलेशन प्रभारी, सुरक्षा नोडल, टेक्निकल टीम, मास्टर ट्रेनर, डीआईओ एवं डीपीआरओ सहित अन्य अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया है। 16 मई से चल रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम को जिला और ब्लॉक स्तर पर किया जा रहा है। निर्वाचन के विभिन्न अधिकारियों को इसका जिम्मा दिया गया है।

तीन चरणों में हुआ था मतदान

राज्य की 11 लोकसभा सीटों के लिए तीन चरणों में मतदान हुआ है। पहले चरण में 19 अप्रैल को बस्तर संसदीय क्षेत्र के लिए वोट डाले गए थे। दूसरे चरण में 3 सीटों, कांकेर, राजनांद‌गांव और महासमुंद के लिए 26 अप्रैल को मतदान हुआ था। बाकी बची 7 – सीटों दुर्ग, रायपुर, बिलासपुर, जांजगीर-चांपा, कोरबा, रायगढ़ और अंबिकापुर के लिए 7 मई को वोट डाले गए थे।

सुरक्षा के साथ वेब कास्टिंग की व्यवस्था

लोकसभा चुनाव 4 जून को होने वाली मतगणना के संबंधी तैयारियों को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारियों को आयोग की ओर से दिए गए दिशा- निर्देशों का गंभीरता के साथ पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए जा चुके हैं। मतगणना के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे साथ ही वेब कास्टिंग की भी व्यवस्था की जाएगी।



Source link

Related Articles

Back to top button