CGNews – जादू टोने के चलते ग्राम पटेल ने की आत्महत्या, दुश्मनों को नुकसान पहुंचाना चाहता था ग्राम पटेल,खुद की ही ऐसे चली गई जान |
Breaking NewsCGTOP36छत्तीसगढ़राज्य

CGNews – जादू टोने के चलते ग्राम पटेल ने की आत्महत्या, दुश्मनों को नुकसान पहुंचाना चाहता था ग्राम पटेल,खुद की ही ऐसे चली गई जान

राजनांंदगांव जिले से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. जादू टोने के चलते एक ग्राम पटेल ने आत्महत्या कर ली. दरअसल, ग्राम पटेल ओम प्रकाश अपने दुश्मनों को नुकसान पहुंचाना चाहता था.

इसके लिए उसने बैग (तांत्रिक ) बुलवाया और षड्यंत्र रची. ग्राम पटेल के दुश्मन तो नहीं मरे लेकिन तांत्रिकों ने अशोक मरावी को ही ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया. लगातार हो रहे ब्लैकमेलिंग से तंग आकर ग्राम पटेल ने अपनी जिंदगी खत्म कर ली. फिलहाल आत्महत्या के मामले में पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

पूरा मामला खैरागढ़ जिले के मोहगांव थाना क्षेत्र के ग्राम जंगलपुर घाट का है. यहां के ग्राम पटेल को फर्जी बैगा से काला जादू करवाना, अपने दुश्मनों को जान से मारने का षड्यंत्र रचना इतना भारी पड़ा कि खुद उसकी ही जान चली गई. ग्राम पटेल ओम प्रकाश मेरावी अपने ही बनाए जाल में ऐसा फंस गया कि उसने आत्महत्या कर ली.

16 फरवरी को श्यामू मेरावी ने मोहगांव थाना में रिपोर्ट दर्ज कराया कि उसका बड़ा भाई ग्राम पटेल ओम प्रकाश मेरावी की अपने खेत में आग से जली लाश मिली है. मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस द्वारा अलग-अलग टीम बना कर हर एंगल में जांच शुरू की गई. जांच में कोटवार और उसके करीबी शिव प्रसाद मेरावी ने बताया कि तथाकथित बैगा बन कर पौड़ी कवर्धा से प्रभु गोस्वामी और गेटर उर्फ विष्णु गोस्वामी आए थे, जिससे गांव के कोटवार ने झाड़ फूंक करवाया था. यह बात मृतक ग्राम पटेल ओम प्रकाश मेरावी को पता चली. इसके बाद ओम प्रकाश ने दोनों तथाकथित बैगा को बुलाकर शिव प्रसाद मेरावी के साथ मिलकर गांव के कोमल जंघेल और गणेश राम वर्मा को काला जादू टोना से मरवाने का षड्यंत्र रचा.

लेकिन पूरा मामला मृतक ओमप्रकाश पर ही उल्टा पड़ गया और तथाकथित बैगा प्रभु और गेटर उर्फ विष्णु गोस्वामी ने मृतक से पैसा ऐंठने का प्लान तैयार कर अपने साथी रिद्धु साहू के साथ मिलकर कोरे कागज में जिसे मरवाना चाहता था उसका नाम और ओमप्रकाश का नाम लिखवा लिया. इसके बाद तथाकथित दोनों बैगा और उसके साथी के द्वारा ब्लैकमेल करने का सिलसिला शुरू हुआ और पैसे की मांग की जाने लगी. इससे परेशान होकर मृतक ओम प्रकाश मेरावी ने आत्महत्या कर लिया. पूरे मामले में पुलिस ने 4 आरोपी प्रभु गिरी गोस्वामी, गेटर उर्फ विष्णु गिरी गोस्वामी, रिद्धू साहू और शिव प्रसाद मेरावी को विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है.

Related Articles

Back to top button