सीएम साय : राजिम कुंभ को मिलेगी पहचान, नवा रायपुर में बनेगा इनोवेशन हब... |
CGTOP36छत्तीसगढ़राज्य

सीएम साय : राजिम कुंभ को मिलेगी पहचान, नवा रायपुर में बनेगा इनोवेशन हब…

रायपुर | छत्तीसगढ़ विधानसभा में राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन की ओर से बजट सत्र के शुभारंभ के अवसर पर दिए गए अभिभाषण पर शुक्रवार को चर्चा के बाद राज्यपाल के प्रति कृतज्ञता ज्ञापन पारित कर दिया गया। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए कहा कि हमने प्रदेश में सुशासन की स्थापना का संकल्प लिया है। हम छत्तीसगढ़ की जनता के वन में खुशहाली और समृद्ध लाने के लिए पीएम मोदी हर गारंटी को पूरा करेंगे। हमारी पहली प्राथमिकता र्ण-शीर्ण हो चुके प्रदेश के वित्तीय-ढांचे को फिर से मजबूत करने और फिर से कुशल वित्तीय प्रबंधन की स्थापना करने की होगी। नवा रायपुर मध्य भारत का इनोवेशन हब बनेगा। इससे लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा। राजिम को देश के मानचित्र पर महत्वपूर्ण तीर्थ के रूप में पहचान दिलाई जाएगी। राजिम कुंभ के आयोजन की परंपरा को फिर शुरू होगी। 

read more- CG News: वित्त मंत्री ओपी चौधरी पहुंचे वीआईपी रोड स्थित श्री राम मंदिर…

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकार ने हमें विरासत में खाली खजाना और भारी कर्ज सौंपा है। अपने बड़े लक्ष्यों को हासिल करने के लिए संसाधनों का इंतजाम हमारे सामने बड़ी चुनौती हो सकती थी, लेकिन जनता-जनार्दन के आशीर्वाद, विश्वास, समर्थन और सहयोग से ऐसी तमाम तरह की चुनौतियों पर विजय पाने में हम कामयाब हो रहे हैं।  पीएम का फोकस किसानों, महिलाओं, गरीबों और युवाओं पर रहा है। उन्होंने छत्तीसगढ़ के समग्र विकास के लिए जो गारंटियां दी हैं, उनका फोकस भी मुख्य रूप से इन्हीं वर्गों पर है। प्रदेश के प्रत्येक नागरिक के लिए सुविधाओं में बढ़ोतरी करना, सामाजिक और भौतिक विकास में ते लाने के लिए अधोसंरचनाओं का निर्माण करना, शिक्षा, चिकित्सा, संस्कृति, संस्कार, रोजगार, व्यापार जैसे क्षेत्रों में प्राथमिकता के साथ राज्य सरकार काम करेगी।

मुख्यमंत्री  साय ने कहा कि हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री  ने विकसित-भारत के निर्माण और भारत को दुनिया की तीन बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में शामिल करने का लक्ष्य देश के सामने रखा है। इन लक्ष्यों को हासिल करने में छत्तीसगढ़ की भी महत्वपूर्ण भागीदारी होगी। छत्तीसगढ़ सरकार के वित्तीय वर्ष 2023-24 के दूसरे अनुपूरक बजट का उद्देश्य मोदी  की गारंटियों के क्रियान्वयन की शुरुआत करना था, तीसरा अनुपूरक बजट शुरू हो चुके काम को आगे बढ़ाने तथा गति देने के लिए प्रस्तुत किया गया था। इसी सत्र में वर्ष 2024-25 के लिए हमारी सरकार पहला मुख्य बजट प्रस्तुत करने जा रही है, जो अनेक मायनों में ऐतिहासिक बजट होगा। 

Related Articles

Back to top button