छत्तीसगढ़

विश्वास, विकास, एवं सुरक्षा सरकार का मूल मंत्र, बोले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

’मावा बस्तर बेरसिंता बस्तर’ : मुख्यमंत्री ने दिए विद्यार्थियों के प्रश्नों का जवाब

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि राजनीति का उद्देश्य आम जनता की तकलीफों को दूर करने, उनके सुख-दुख में सहभागी बनने एवं सेवा माध्यम होना चाहिए। उन्होंने कहा कि विश्वास, विकास एवं सुरक्षा छत्तीसगढ़ सरकार का मूल मंत्र है। हमारी सरकार इस दिशा में निरतंर कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री बघेल अपने जगदलपुर के प्रवास के दौरान 25 जनवरी को रात्रि में पुलिस कोआर्डिनेशन सेन्टर लालबाग का लोकार्पण किया और ’मावा बस्तर बेरसिंता बस्तर’ कार्यक्रम में विद्यार्थियों से रू-ब-रू हुए और उनके प्रश्नों का जवाब भी दिए।

कार्यक्रम के दौरान नारायणपुर जिले के बुधराम के प्रश्न के जवाब में मुख्यमंत्री ने बताया कि नेता बनने के लिए व्यक्ति को आम जनता से सतत एवं जीवंत संपर्क स्थापित कर उनके समस्याओं के निराकरण के लिए सदैव प्रयत्नशील रहना चाहिए। बीजापुर जिले की कुमारी सरीता के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जीवन के दौरान वे भी अपने शिक्षकों से खूब डांट खाई है।

ऐसा कोई भी विद्यार्थी नहीं होगा जो अपने शिक्षकों से डांट न खाया हो। विद्यार्थियों के साथ हुए सवाल-जवाब के कार्यक्रम में उन्होंने पूरी संजिदगी देते हुए विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं का समाधान किया और छत्तीसगढ़ सरकार के विजन को भी स्पष्ट किया। इस दौरान उन्होंने अपने विद्यार्थी जीवन के रोचक संस्मरण भी सुनाएं।

विद्यार्थियों से सवाल-जवाब के दौरान मुख्यमंत्री ने आदिवासी बच्चों को शिक्षा पूरी होने के बाद उनके लिए रोजगार तथा स्वरोजगार की पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा किए गए कदमों के बारे में बताया।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कनष्ठि चयन बोर्ड के माध्यम से तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के पदों पर बस्तर एवं सरगुजा संभाग में स्थानीय लोगों की भर्ती की प्रक्रिया प्रारंभ की गई है। इसके अलावा युवाओं को स्थानीय परिवेश एवं आवश्यकताओं के अनुसार स्वरोजगार उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है।

बघेल ने कहा कि संविधान निर्माता डॉ. बाबा सहाब अम्बेडकर के अथक प्रयासों से हमें दुनिया का सर्वश्रेष्ठ एवं लिखित संविधान प्राप्त हुआ है। दुनिया के बहुत कम देशों के पास लिखित संविधान है। उन्होंने कहा कि स्कूली बच्चों को संविधान की जानकारी देने के लिए सभी स्कूलों में भारतीय संविधान के प्रस्तावनों को अनिवार्य रूप से पढ़ाया जाएगा।

सीएम बोले हम सभी को संविधान की जानकारी अनिवार्य रूप से होनी चाहिए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने स्कूली बच्चों के साथ भोजन भी किया और देशभक्तिपूर्ण गीतों की प्रस्तुति पर बच्चों के साथ शामिल हुए।

|

Related Articles

Back to top button