छत्तीसगढ़

खनिज से वित्तीय वर्ष 2019-20 में दिसम्बर माह तक 4359.82 करोड़ की राजस्व प्राप्ति

गत वित्तीय वर्ष की तुलना में 326.02 करोड़ रूपए अधिक की राजस्व प्राप्ति

छत्तीसगढ़ में वित्तीय वर्ष 2019-20 में अप्रैल से दिसम्बर माह तक खनिज से 4359.82 करोड़ रूपए की राजस्व प्राप्ति हुई। गत वित्तीय वर्ष 2018-19 में इसी अवधि के दौरान 4033.80 करोड़ रूपए की राजस्व प्राप्ति हुई थी। इस प्रकार चालू वित्तीय वर्ष में खनिज से 326.02 करोड़ रूपए अधिक की राजस्व प्राप्ति हुई है।

मुख्य खनिज में चालू वित्तीय वर्ष के दौरान दिसम्बर माह तक 2974.11 करोड़ रूपए की राजस्व प्राप्ति हुई है। इसमें कोयला से 1535.88 करोड़ रूपए, लौह अयस्क से 1178.01 करोड़ रूपए, चूनापत्थर से 240.94 करोड़ रूपए, बॉक्साइट से 19.20 करोड़ रूपए और अन्य मुख्य खनिज से 8 लाख रूपए की राजस्व प्राप्ति हुई है।

इसी प्रकार गौण खनिज से 124.20 करोड़ रूपए, अर्थदण्ड एवं राजसात से 612.90 करोड़ रूपए, विविध प्राप्तियों से 26.45 करोड़ रूपए, कोल ब्लॉक नीलामी से 619.41 करोड़ रूपए, गौण खनिज नीलामी से 2.75 करोड़ रूपए की राजस्व प्राप्ति हुई है।

वित्तीय वर्ष 2018-19 में अप्रैल से दिसम्बर माह तक 3347.93 करोड़ रूपए की राजस्व प्राप्ति हुई है। इसमें कोयला से 1947.54 करोड़ रूपए, लौह अयस्क से 1129.53 करोड़ रूपए, चूनापत्थर से 251.44 करोड़ रूपए, बॉक्साइट से 18.86 करोड़ रूपए और अन्य मुख्य खनिज से 56 लाख रूपए की राजस्व प्राप्ति हुई है।

इसी प्रकार गौण खनिज से 146.99 करोड़ रूपए, अर्थदण्ड एवं राजसात से 8.36 करोड़ रूपए, विविध प्राप्तियों से 6.05 करोड़ रूपए, कोल ब्लॉक नीलामी से 517.71 करोड़ रूपए, गौण खनिज नीलामी से 1.42 करोड़ रूपए और अन्य मुख्य खनिजों की नीलामी से 5.34 करोड़ रूपए की राजस्व प्राप्ति हुई।

|

Related Articles

Back to top button