छत्तीसगढ़

रायपुर के व्‍हीआईपी रोड हुक्‍का बार सेंटरों में कार्यवाही, 7 हुक्‍का बार और कैफे संचालकों से वसूले गएं 15000 रुपए जुर्माना


राजधानी में मंगलवार की शाम से नशे के कारोबारियों पर छापामार कार्यवाही की गई। शहर के व्‍हीआईपी रोड इलाके में अवैध रुप से संचालित हो रही हुक्‍का बार सेंटरों पर शाम 6.30 बजे से रात 11.30 बजे तक 5 घंटे में 7 से अधिक हुक्का सेंटरों पर दबिश दी गई। सिविल लाइन सीएसपी त्रिलोक बंसल के नेतृत्‍व में कोपटा एक्‍ट 2003 के तहत 46 चालानी कार्रवाई करते हुए 15000 रुपए की जुर्माना राशि वसूला किया गया।

राजधानी में बेरोकटोक बड़े होटलों और रेस्‍टोरेंट में हुक्का का कारोबार चल रहा है। छापा मार कार्रवाई में नशे का धुआ उडा़ने के सामान जब्‍त करते हुए युवाओं को भी मौके पर समझाईश देकर छोड़ दिया गया। इन हुक्‍का बारों में कहीं धुम्रपान निषेध संबंधित बोर्ड नहीं पाए गए और स्‍मोकिंग जोन कॉनर नहीं पाया गया। 

राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम (एनटीसीपी) के स्‍टेट नोडल अधिकारी डॉ कमलेश जैन, सीएमएचओ डॉ केआर सोनवानी व डीपीएम रंजना पैकरा के निर्देशन में  एनटीसीपी की जिला स्‍तरीय टीम ने छापामार कार्रवाई करते हुए नशे के ठिकानों दबिश दी। टीम में  एनटीसीपी के जिला नोडल डॉ एसके सिंहा, जिला काउंसलर अजय कुमार बैस, जिला सलाहकार सृष्टि यदु, सोशल वर्कर नेहा सोनी, ड्रग इंस्पेक्टर डॉ टेकचंद, ड्रग इंस्पेक्टर सुरेश कुमार साहू, जिला पुलिस बल के जवान और स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने संयुक्‍त रुप से कार्यवाही अभियान चलाकर जुर्माना वसूल किया गया।

हुक्‍का बार सेंटरों उपयोग किए जाने वाले तंबाकू उत्‍पाद के सेम्‍पल जब्‍त कर खाद़य एवं औषधीय प्रशासन विभाग के लैब में जांच के लिए भेज दिया गया। वहीं कैफे और रेस्‍टोरेंट संचालकों को जुर्माने के साथ चेतावनी दी गई है कि भविष्‍य में इस तरह की नशे के कारोबार संचालित होने पर कोटपा एक्‍ट-2003 के तहत कड़ी कार्रवाई भी की जाएगी। राजधानी में तंबाकू नियंत्रण के फ्लाइंग स्कॉयड की तर्ज पर टीम गठित की गई है। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम ने सितंबर महीने में ही दूसरी बार ताबड़तोड़ कार्यवाही तेज कर दी है जिससे हुक्‍का बार संचालकों में हड़कंप मचा गया है।

 इन हुक्‍का बारों से वसूला गया जुर्माना –

नोडल अधिकारी डॉ सिंहा ने बताया , देर रात तक चली कार्रवाई में जिसमें द स्‍काई लॉज एंड कैफे में 2000 रुपए, पान चौपाल में 800 रुपए, महफिल रेस्‍टरों में 1200 रुपए, एचटूओ कैफे में 2000 रुपए, थ्री किंग लॉज में 600 रुपए, द लिविंग रुम कैफे में 2000 रुपए सहित अन्य रेस्टोरेंट में चालानी कार्रवाई में 15000 रुपए जुमाना लगाते हुए सख्त हिदायत दी गई है।

हुक्‍का में इस्‍तेमाल होने वाले तंबाकू में 70 खतरनाक रसायन-

एनटीसीपी के जिला नोडल अधिकारी डॉ एसके सिंहा ने बताया, तंबाकू के धुएं में हजारों रसायन पाए जाते हैं, जिनमें कम-से-कम 70 रसायन कैंसर के कारक होते हैं। तंबाकू के धुंए में पाए जाने वाले रसायन में निकोटीन, हाइडोजन साइनाइड, सीसा, आर्सेनिक, टार, अमोनिया, कार्बन मोनो ऑक्‍साइड जैसे खतरनाक रासायनिक यौगिक तंबाकू में पाए जाते हैं जिसका उपयोग से युवाओं में नशे की लत लग जाती है। इससे गंभीर और घातक हृदय और फेफड़ों का कैंसर का कारक होता है।

एनएफएचएस -4 के रिपोर्ट के मुताबिक छत्‍तीसगढ़ में उम्र 15-49 वर्ष तक वयस्कों के बीच तंबाकू का उपयोग करने में पुरुष 55.2 प्रतिशत और महिलाएं 21.6 प्रतिशत हैं। जबकि राष्ट्रीय स्‍तर पर 44.5 प्रतिशत पुरुष और 6.8 प्रतिशत महिलाएं तंबाकू का सेवन करती हैं।

MPOWER रिपोर्ट 2007 में WHO ने FCTC के साथ छह तंबाकू नियंत्रण रणनीतियों पर सरकारी कार्रवाई को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई थी। जिसमें 1. तंबाकू के उपयोग और रोकथाम की नीतियों की निगरानी करें। 2. तंबाकू के धुएं से लोगों को बचाएं। 3. तंबाकू के सेवन को छोड़ने में मदद की पेशकश करें। 4.तंबाकू के खतरों के बारे में लोगों को चेतावनी दी। 5. तंबाकू के विज्ञापन, प्रचार और प्रायोजन पर प्रतिबंध लागू करें। और 6. तंबाकू पर टैक्स बढ़ाओ।

Join us on Telegram for more.
Fast news at fingertips. Everytime, all the time.
प्रदेशभर की हर बड़ी खबरों से अपडेट रहने CGTOP36 के ग्रुप से जुड़िएं...
ग्रुप से जुड़ने नीचे क्लिक करें

Related Articles

Back to top button