छत्तीसगढ़

झीरमघाटी प्रकरण, कांग्रेस प्रवक्ता त्रिवेदी ने पुलिस अधिकारियों की भूमिका पर उठाए सवाल

25 मई 2013 को बस्तर के झीरम घाटी में नक्सलियों द्वारा किए गए नरसंहार के मामले में गठित न्यायिक आयोग के सामने कांग्रेस के मीडिया प्रमुख शैलेष नितिन त्रिवेदी ने कई सवाल उठाए हैं। शपथ पत्र के साथ प्रस्तुत अपने बयान में त्रिवेदी ने कई बिंदुओं को तथ्य के साथ प्रस्तुत करते हुए जांच की मांग की है। गौरतलब है कि आज आयोग के सामने शैलेष नितिन त्रिवेदी का बयान प्रस्तुत किया जाना था।

त्रिवेदी ने मय तथ्य पेश किए गए बयान में झीरम घाटी हत्याकांड को सीधे तौर पर सुरक्षा के लिए जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों को निशाना बनाया है। त्रिवेदी ने आयोग को दिए शपथपत्र में 8 नए बिंदुओं पर नए सिरे से जांच की बात कही है। इन बिंदुओ में कांग्रेस के अध्यक्ष तथा पूर्व गृहमंत्री रहे नंदकुमार पटेल को अधिकारियों द्वारा धोखे में रखा जाना। महेंद्र कर्मा समेत बड़े नेताओं की सुरक्षा में अनदेखी करना, फोर्स जानबूझकर अन्य स्थानों पर मूव करना, इंटेलीजेंस व अन्य सुरक्षा एजेंसियों से तालमेल नहीं बनाना जैसे कई बिंद शामिल हैं।

शैलेष नितिन त्रिवेदी द्वारा जीरम मामले में जांच के लिए प्रस्तुत किए नए बिंदु इस प्रकार है…

1 नवंबर 2012 में स्व. महेन्द्र कर्मा पर हुये हमले के पश्चात् क्या उनकी सुरक्षा की समीक्षा प्रोटेक्शन रिव्यू ग्रुप के द्वारा की गई थी?
2 स्व. महेन्द्र कर्मा को नवंबर 2012 में उन पर हुये हमले के पश्चात्, उनके द्वारा मांगी गई अतिरिक्त सुरक्षा की मांग पर किस स्तर पर विचार निर्णय किया गया था और उस पर क्या कार्यवाही की गई थी?
3 गरियाबंद जिले में जुलाई 2011 में स्व. नंद कुमार पटेल के काफिले पर हुये हमले के पश्चात् क्या स्व. पटेल एवं उनके काफिले की सुरक्षा हेतु अतिरिक्त सुरक्षा उपलब्ध कराई गई थी और क्या उन अतिरिक्त सुरक्षा मानकों का पालन जीरम घाटी घटना के दौरान किया गया?
4 क्या राज्य में नक्सलियों के द्वारा पूर्व में किये गये बड़े हमलों को ध्यान में रखते हुये नक्सली इलाकों में यात्रा आदि हेतु किसी निर्धारित संख्या में या उससे भी अधिक बल प्रदाय करने के कोई दिशा-निर्देश थे? यदि हां तो उनका पालन किया गया? यदि नही ंतो क्या पूर्व के बड़े हमलों की समीक्षा कर कोई कदम उठाये गये?
5 नक्सल विरोधी आपरेशन में और विशेषकर टी.सी ओ.सी. की अवधि के दौरान यूनिफाईड कमाण्ड किस तरह अपनी भूमिका निभाती थी? यूनिफाईड कमांड के अध्यक्ष के कर्तव्य क्या थे और यूनिफाईड कमाण्ड के तत्कालीन अध्यक्ष ने अपने उन कर्तव्यों का उपर्युक्त निर्वहन किया?
6 25 मई 2013 को बस्तर जिले में कुल कितना पुलिस बल मौजूद था? परिवर्तन यात्रा कार्यक्रम की अवधि में बस्तर जिले से पुलिस बल दूसरे जिलों में भेजा गया? यदि हां तो किस कारण से और किसके आदेश से? क्या इसके लिये सक्षम स्वीकृत प्राप्त की गई थी?
7 क्या नक्सली किसी बड़े आदमी को बंधक बनाने के पश्चात् उन्हें रिहा करने के बदले अपनी मांग मनवाने का प्रयास करते रहे है? स्व. नंद कुमार पटेल एवं उनके पुत्र के बंधक होने के समय ऐसा नहीं करने का कारण क्या था?
8 सुकमा के तत्कालीन कलेक्टर, श्री अलेक्स पाल मेनन के अपहरण एवं रिहाई में किस तरह के समझौते नक्सलियों के साथ किये गये थे? क्या उनका कोई संबंध स्व. महेन्द्र कर्मा की सुरक्षा से था?

Join us on Telegram for more.
Fast news at fingertips. Everytime, all the time.
प्रदेशभर की हर बड़ी खबरों से अपडेट रहने CGTOP36 के ग्रुप से जुड़िएं...
ग्रुप से जुड़ने नीचे क्लिक करें

Related Articles

Back to top button