छत्तीसगढ़

यह हताश का बजट है: प्रवक्ता राजेश बिस्सा छग कांग्रेस

Desperate budget by central government said rajesh bissa congress spoke person

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता राजेश बिस्सा ने केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तुत बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा की यह बजट आजाद भारत का सबसे कमजोर व अदूरदर्शी बजट है।

इस बजट की सबसे दुर्भाग्यपूर्ण बात एक ओर राष्ट्र के संस्थानों एलआईसी, रेल्वे, पुराने स्थापित उद्योगों को निजी हाथों में देने का संकेत, तो दूसरी ओर किसान, शिक्षा, स्वरोजगार, स्वास्थ्य जैसे क्षेत्र में गत वर्षों की तुलना में बजटीय प्रावधान कम करने का है।

बिस्सा ने कहा की यह हताश का बजट है। देश की वर्तमान आवश्यकता शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, किसानी संवर्धन, आर्थिक विश्वसनियता जैसे विषयों पर थी जिसे सरकार को अपनी जवाबदारी समझना था। लेकिन इन सब मुद्दों से परे केंद्र शासन द्वारा इन सब क्षेत्रों में विदेशी निवेश, पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशिप व दशकों से स्थापित संस्थानों जैसे एलआईसी के शेयर बेचने जैसे प्रबंधन पर ही अपनी निर्भरता व्यक्त करना यह सुनिश्चत करता है कि दम तोड़ती अर्थव्यवस्था के आगे उन्होने अब अपने घुटने टेक दिये हैं

बिस्सा ने कहा की देश आर्थिक मंदी की खाई में गिरता जा रहा है ऐसे समय इतना कमजोर बजट प्रस्तुत करना देश के साथ खिलवाड़ है। इस देश की सबसे बड़ी चुनौती अर्थव्यवस्था को मजबूत करने की थी, लेकिन पहली बार हुआ है कि बजट के प्रस्तुत होने के साथ ही शेयर बाजार का सेनसेक्स एक हजार अंक गिर गया है। जो इस बात का संकेत है कि देश आने वाले समय में आर्थिक रुप से और मुश्किलों में जाने वाला है।

बिस्सा ने कहा की इतिहास का सबसे लंबा बजटीय भाषण देने के बाद भी मोदी सरकार के इस बजट में रोजगार के अवसर बढ़ाने के उपाय व  स्वरोजगार के अवसर बढ़ते नजर नहीं आये। हर जगह सिर्फ परिस्थितयों के आगे नतमस्तक लाचारी नजर आयी।

बिस्सा ने कहा की राष्ट्र के बुद्धिजीवियों व अर्थशास्त्रियों को देश को बचाने के लिये आगे आना चाहिये वर्ना यह सरकार दलदल में जाती अर्थव्यवस्था व बढ़ती हुई सांप्रदायिकता की आग में देश को झोंक देगी।  

|

Related Articles

Back to top button
Live Updates COVID-19 CASES