छत्तीसगढ़

अंतागढ़ टेपकांड – फिरोज सिद्धिकी का सनसनीखेज आरोप, जान से मारा जा सकता है मुझे

बहुचर्चित अंतागढ़ टेपकांड के मुख्य गवाह फिरोज सिद्दीकी ने अपने जान का खतरा बताया है. सिद्दिकी ने आईएएस और राजस्व विभाग के अधिकारियों समेत राजनीतिक दल के सदस्यों पर षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया है।

उन्होंने सड़क दुर्घटना में मरवाने की आशंका जताई है. इसके अलावा एसआईटी की जांच पर भी नाखुशी जाहिर की है. उन्होंने जल्द ही सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाने की बात कही है।

फिरोज सिद्दीकी ने आरोप लगाया कि टेपकांड की शुरुआती जांच में ऐसा प्रतीत हो रहा था कि एसआईटी बहुत जल्द राजनैतिक अपराध में शामिल प्रभाशाली व्यक्तियों को उनके अपराध की सज़ा तक पहुंचा देंगे. लेकिन अफ़सोस की जांच महज गवाहों तक सीमित रही. सिर्फ और सिर्फ मुझे प्रभाशाली व्यक्तियों का दुश्मन बना दिया गया है. मुझे मेरे शुभ चिंतकों द्वारा सूचना दी गई है कि मुझे सड़क दुर्घटना में मारने की साजिश की गई है।

फिरोज का कहना है कि मामले में राजनांदगांव जिले के प्रशासनिक अधिकारियों को भी शामिल किया है. किसी दूसरे मामले में उलझा कर राजनांदगांव डोंगरगढ़ तक बुलाया जाए और सड़क दुर्घटना में मार दिया जाए ताकि अन्तागढ़ टेपकांड की जांच सदा के लिए बंद कर दिया जाए।

आरोप लगाया गया है कि एसआईटी की जांच गलत दिशा में चल रही है. महज आरोपियों को बचाने के लिए ऐसा किया जा रहा है. मेरा 164 का बयान अभी तक नहीं करवाया गया. उन्हें पता है कि 164 का अगर बयान होता है तो आरोपियों के खिलाफ एक बहुत साक्ष्य होगा।

|

Related Articles

Back to top button