छत्तीसगढ़

झीरम की घटना एक राजनीतिक आपराधिक षड्यंत्र था। #झीरम_श्रद्धांजलि_दिवस

मंत्रालय के अधिकारी-कर्मचारियों ने, शहादत को किया नमन*

झीरम श्रद्धांजलि दिवस 25 मई के अवसर पर मंत्रालय के अधिकारी-कर्मचारियों, सुरक्षा में लगे पुलिस के जवान सहित मंत्रालय परिसर में संचालित हो रहे भारतीय स्टेट बैंक और डाकघर के कर्मियों ने दो मिनट का मौन रखकर नक्सली हिंसा में शहीद हुए जनप्रतिनिधियों, सुरक्षा बल के जवानों सहित अन्य नागरिकों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की है। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ राज्य को शांति के टापू के रूप में विकसित करने की शपथ भी ली।

मंत्रालयीन कर्मियों ने 25 मई 2013 को झीरम घाटी में नक्सल हिंसा के शिकार हुए जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ पदाधिकारीगण, सुरक्षा बलों के जवान एवं नक्सल हिंसा में शहीद हुए अन्य सभी भाईयों-बहनों को श्रद्धांजलि अर्पित की साथ ही अपने राज्य में अहिंसा एवं सहनशीलता की परम्परा में दृढ़ विश्वास रखते हुए सभी प्रकार के नक्सलवाद और हिंसा का डटकर विरोध करने और राज्य को पुनः शांति का टापू बनाने के लिए दृढ़ संकल्पित रहने की शपथ ली।

Source by Bhupesh Baghel

लेटेस्ट ब्रेकिंग न्यूज, वायरल ट्रेंड और सोशल मीडिया की दुनिया से जुड़ी सभी खबरें. आपको ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर वायरल होने वाले हर कंटेंट की सीधी जानकारी उपलब्ध करायी जाएगी. ऊपर दिखाया गया पोस्ट अनएडिटेड कंटेंट है, जिसे सीधे सोशल मीडिया यूजर्स के अकाउंट से लिया गया है. Cgtop36 स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है. सोशल मीडिया पोस्ट Cgtop36 के विचारों और भावनाओं का प्रतिनिधित्व नहीं करता है, हम इस पोस्ट में मौजूद किसी भी कंटेंट के लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व स्वीकार नहीं करते हैं.

Join us on Telegram for more.
Fast news at fingertips. Everytime, all the time.
प्रदेशभर की हर बड़ी खबरों से अपडेट रहने CGTOP36 के ग्रुप से जुड़िएं...
ग्रुप से जुड़ने नीचे क्लिक करें

Related Articles

Back to top button