छत्तीसगढ़

जिले की मांग को लेकर विधायक प्रतिनिधि के बिगड़े बोल, विधायक को ही लिया निशाने पर

विधायक के बाद विधायक प्रतिनिधि के भी नया जिला बनाने को लेकर बिगड़े बोल सोशल मीडिया में वायरल होने लगे है।मनेन्द्रगढ़ चिरमिरी को जिला बनाने की मांग को लेकर आंदोलन करने वालो को मनेन्द्रगढ़ विधायक डॉ विनय जायसवाल ने नकारात्मक ऊर्जा वाला और भाजपाई करार दिया था।

इसके बाद चिरमिरी में जिले की मांग को लेकर आयोजित हुई बैठक में विधायक के प्रतिनिधि शिवांश जैन ने यह कह दिया कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी ज्योत्स्ना महन्त की कम अंतर से जीत के कारण राज्य सरकार जिला बनाने से किनारा कर रही है।

विधायक प्रतिनिधि शिवांश जैन ने बैठक में अपने उद्बोधन में कहा की मुझे अभी कुछ दिनों पूर्व ही रायपुर में जानकारी प्राप्त हुई है की वर्तमान लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्यासी ज्योत्स्ना महन्त को हमारे विधानसभा से उनकी जीत में बढ़त नहीं देने के कारण इस मांग से साथ यहां की अन्य मांगो को दरकिनार किया जा रहा है । जो इस मांग को पूरी नहीं होने का सबसे बड़ा कारण बना हुआ है । बैठक में विधायक प्रतिनिधि के इस बयान से उपस्थित लोगो में अचानक आक्रोश व्याप्त हो गया।

बहरहाल इस एक दिवसीय बैठक में जिला संघर्ष समिति के आयोजन और अनुरोध पर चिरमिरी के कई निर्वाचित जनप्रतिनिधियों ने अपनी अपनी राय देते हुए क्षेत्रिय विधायक और जिले के राज्य मंत्री के साथ मिलकर राज्य के मुखिया से सौजन्य भेंट के लिए 10 दिवस का समय रखा गया है।

इस 10 दिवस के भीतर संघर्ष समिति का प्रतिनिधि मण्डल राज्य के मुखिया से मिल कर अपनी मांग को रखेगा । बता दें कि विधायक द्वारा जिले की मांग को लेकर आंदोलन करने वाले लोगो को नकारात्मक ऊर्जा वाला कहने से जिला बनाओ संघर्ष समिति के लोगो मे नाराजगी हो गईं थीं। जिला बनाओ समिति के लोगो का कहना है कि क्या अपने हक की बात व जायज मांग करना नकारात्मक है।

|

Related Articles

Back to top button