छत्तीसगढ़जरा हटके

गाजे बाजे के साथ बैलगाड़ी में निकाली बारात, देखने को लोगो का हुजूम उमड़ा

आज जहाँ शहरी चकाचौंध और लाइफस्टाइल ने लोगो की जिंदगी बदल कर रख दी है वहीं बीते मंगलवार को अक्षय तृतीया पर चरौदा के निवासी मनोज कुमार साहू पुत्र मोतीलाल साहू के परिवार जनो ने एक अनोखा फैसला किया और प्राचीन परंपरा को जीवित रखने बैलगाड़ी से बारात लेकर गए। मनोज का विवाह तामासिवनी के श्रद्धा साहू की पुत्री नरोत्तम साहू के साथ संपन्न हुआ।

पांच बैलगाड़ी व बैलों को सजा धजा कर दूल्हे सहित सभी बाराती चरौदा से तामासिवनी के लिए लगभग तीन किलोमीटर तक बैलगाड़ी में गए। बैलगाड़ी में बाराती आते देख लोगों का कौतुहल जाग उठा और हुजूम लग गया।

पहले लगभग हर शादी में बैलगाड़ियों से बारात जाया जाता था लेकिन अब आधुनिक संसाधनों के चलते लोगों ने बैलगाड़ी से बारात निकालना बंद कर दिया है। इस बारात को देखने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीण भी इकट्ठा हो गए।

|

Related Articles

Back to top button