छत्तीसगढ़

कांकेर में पूर्व विधायक ने नामांकन फार्म खरीदा…. निर्दलीय चुनाव लड़ने का किया ऐलान….पार्टी को सुनायी- खूब खरी-खोटी …जांजगीर में भी हो सकता है बगावत

पहली लिस्ट जारी होते ही बीजेपी में भगदड़ मच गयी है। जांजगीर में जहां सांसद के बेटे ने मोर्चा खोला है, तो वहीं कांकेर में पूर्व विधायक ने बागी बनकर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। चुनाव के ठीक पहले पार्टी के अंदर मचे इस घमासान ने बीजेपी की मुश्किलें बढ़ा दी है।

आपको बता दें कि भाजपा ने कुल 184 प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी की है, जिसमें छत्तीसगढ़ के भी 5 प्रत्याशी हैं और कांकेर से इस बार पार्टी ने विक्रम उसेंडी की जगह मोहन मंडावी को टिकट दिया है।

आज सुबह जांजगीर की सांसद कमला पाटले के बेटे ने प्रत्याशी चयन पर सवाल उठाया था और पार्टी नेतृत्व को आड़े हाथों लिया था। उसके थोड़े देर बाद कांकेर से खबर आयी की पूर्व विधायक सुमित्रा मारकोले ने पार्टी के खिलाफ तलवारें खिंच ली है। नाराज सुमित्रा ने निर्दलीय नामांकन फार्म भी खरीद लिया है और पार्टी के खिलाफ बागी बनकर चुनाव लड़ने कै ऐलान भी कर दिया है।

सुमित्रा ने कहा कि

“पार्टी ने ऐसे प्रत्याशी को टिकट दिया है, जिसने आज तक पार्टी का झंडा तक नहीं उठाया है। मुझे कार्यकर्ताओं ने चुनाव लड़ने के लिए कहा है, मैं जरूर चुनाव लड़ूंगी, मैंने आज नामांकन फार्म भी खरीद लिया है”

उन्होंने आगे कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता लोगों की भावनाओं के आधार पर चुनाव लड़ रही हूँ, क्योंकि यहां पार्टी में जो काम कर रहे हैं, उसकी कोई इज्जत नहीं है। वर्षों से काम करते आ रहे हैं कि अब अवसर मिलेगा, लेकिन बाहर से लाकर चुनाव लड़वाएगें तो कहां से पार्टी के लोग काम करेगें। साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी के द्वारा जमीनी कार्यकर्ताओं की अनदेखी की गई है।

|

Related Articles

Back to top button