छत्तीसगढ़

एचएनएलयू में आंदोलनरत कर्मचारियों के समर्थन में धरना स्थल पहुंचे नितिन भंसाली, आंदोलनरत कर्मचारी कल नितिन भंसाली के साथ मिलेंगे श्रम मंत्री शिव डहरिया से

नवा रायपुर अटल नगर स्थित हिदायतुल्लायह राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय में 45 कर्मचारियों को बिना कारण बताए नौकरी से निकालने का मामला सामने आया है जिसको लेकर पी.आई.एस.एफ के चेयरमैन एवं कांग्रेस नेता नितिन भंसाली कर्मचारियों की सुध लेने आज एचएनएलयू कैंपस के बाहर धरना स्थल पर पहुंचकर आंदोलनरत कर्मचारियों से चर्चा की.

आंदोलनरत कर्मचारियों ने अपना दुःख बयां करते हुए नितिन भंसाली को बताया की बिना किसी सुचना या नोटिस के 10 वर्षो से काम कर रहे सभी कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया गया है, इतना ही नहीं कांट्रेक्टर ने अब तक 40 % वेतन का भी भुगतान नहीं किया है और कर्मचारियों के प्रोविडेंट फण्ड खाते में भी भारी गड़बड़ी की गई है।

नितिन भंसाली ने धरना स्थल पर पहुंचकर आंदोलनकारी श्रमिकों से चर्चा की एवं उनकी समस्याओं को सुना, पिछले ग्यारह दिनों से तप्ती धुप में आंदोलन कर रहे इन सफाई कर्मचारियों की समस्या सुनते ही नितिन भंसाली धरना स्थल से ही प्रदेश के श्रम मंत्री शिव डेहरिया से दूरभाष पर संपर्क किया और कर्मचारियों की समस्याओं के निदान हेतु मिलने का समय माँगा. नितिन भंसाली ने बताया कि एचएनएलयू कर्मचारियों के अधिकारों ओर मांगो को लेकर वे आंदोलनरत कर्मचारीयो के साथ कल श्रम मंत्री से मिलकर न्याय की गुहार करेंगे.

इस पुरे विषय में नितिन भंसाली ने कहा कि सबसे बड़ा सवाल यह है की सोशल जस्टिस, नेचुरल जस्टिस और ड्यू प्रोसीजर के सिद्धांतो को जो इस विधि मंदिर में पढ़ाया जाता है, जिस न्याय के मंदिर में कानून कि शिक्षा दी जाती हो उसी स्थान पर कर्मचारियों के साथ अन्याय दुर्भाग्यजनक है. धरना स्थल पर नितिन भंसाली के साथ प्रमुख रूप से हर्षवर्धन सिंघानिया, चिराग बरडिया, सार्थक तापड़िया, हर्षवर्धन अग्रवाल, मनीष लांगे, सहदेव साहू एवं शिवम् अडिया उपस्थित थे.

|

Related Articles

Back to top button