छत्तीसगढ़

एक ही दिन में 27 लोगो को काट खाया कुत्तों ने, शहर में बढ़ा आवारा कुत्तों का आतंक

शहर में एक बार फिर आवारा कुत्तों का आतंक बढ़ गया है। मंगलवार को एक ही दिन में डॉग बाइट के 27 मरीज लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल सुपेला में पहुंचे। पिछले 10 दिन में 181 लोग खूंखारों के आंतक के शिकार हो चुके हैं। इसके बाद भी शहर के निर्वाचित नेताओं और नगर निगम के जिम्मेदार अधिकारियों को कुछ फर्क नहीं पड़ रहा है।

इन क्षेत्रों में ज्यादा आंतक

भिलाई के सुपेला- कोहका रोड, फरीद नगर, कैप, वैशाली नगर, हाउसिंग बोर्ड, कैंप क्षेत्र, खुर्सीपार बापू नगर, टाउनशिप में सेक्टर-6, सेक्टर-7, रुआबांधा, सेक्टर-5 इलाके में आवारा कुत्तों का जमकर आतंक फैला हुआ है।

एक करोड़ का बजट, डॉग हाउस का पता नहीं

7 मार्च 2017 को स्वास्थ्य विभाग की सलाहकार समिति की बैठक में डॉग हाउस बनाया निर्माण के प्रस्ताव पर सहमति जताई गई थी। इसके बाद वित्तीय वर्ष 2018-19 के बजट में डॉग हाउस निर्माण, संचालन व कुत्तों के बधियाकरण के लिए एक करोड़ रुपए का प्रावधान रखा गया। इसके बाद भी निगम प्रशासन शहर की इस सबसे बड़ी समस्या को नजअंदाज कर दिया। इस साल वर्ष 2019-20 में फिर इस मद में एक करोड़ रुपए रखा गया है।

डॉग हाउस बनाया नहीं, बधियाकरण बंद, एंटी रेबीज इंजेक्शन भी नहीं दे रहा

नगर निगम दो साल में भी डॉग हाउस का निर्माण नहीं कर सका। आवारा कुत्तों का बधियाकरण बंद कर रखा है। सुपेला शास्त्री अस्पताल को एंटी रेबीज इंजेक्शन भी उपलब्ध नहीं करवा रहा है। निगम प्रशासन हर साल तीन हजार रेबीज इंजेक्शन की खरीदी के लिए बजट रखता है। अप्रैल 2018 से अब तक करीब 2300 इंजेक्शन खरीदी गई है। वहीं 700 इंजेक्शन की खरीदी ही नहीं की जा रही है। 31 मार्च को बजट लैप्स हो जाएगा।

सीजीएमएससी से एंटी रैबीज सप्लाई बंद अस्पताल प्रबंधन के पास फंड नहीं

सीजीएमएससी से इंजेक्शन की सप्लाई नहीं होने के कारण अस्पताल प्रबंधन जीवन दीप समिति के पैसे से इंजेक्शन की खरीदी कर रहे है। समिति के पास इतना फंड नहीं है कि सभी मरीजों को रेबीज इंजेक्शन उपलब्ध करा सके। निगम के स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा का कहना है कि अस्पताल में रेबीज इंजेक्शन उपलब्ध कराने सीएमएचओ को पत्र लिखा गया है।

10 दिनों में पहुंचे 181 मरीज

निगम प्रशासन सालभर में 2100 आवारा कुत्तों की नसबंदी का लक्ष्य पूरा कर लेने का दावा कर कर चैन की नींद सो रहा है और इधर शहरवासी खूंखार कुत्तों के आंतक से सहमे हुए हैं। शहर में रोजाना डॉग बाइट की समस्या बढ़ती जा रही है। सुपेला शास्त्री अस्पताल में 1 से 11 मार्च तक डॉग बाइट के 181 मरीज पहुंच चुके है।

|

Related Articles

Back to top button
Live Updates COVID-19 CASES