CGTOP36देश विदेशबिजनेस

अडानी ग्रुप अब एविएशन के बिज़नेस में भी, 50 साल के लिए मिले देश के 5 बड़े एयरपोर्ट

अडानी समूह ने देश के छह हवाईअड्डों के लिए लगाई गई बोलियों में से पांच में जीत हासिल की है। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) ने बोलियां मंगाई थीं। अडानी ग्रुप के कब्‍जे में आए हैं वो लखनऊ, जयपुर, अहमदाबाद, मेंगलुरु और त्रिवेंद्रम हैं। एक अन्‍य एयरपोर्ट गुवाहाटी को लेकर मंगलवार को फैसला आ सकता है। ये एयरपोर्ट अडानी ग्रुप ने 50 साल की अवधि के लिए अपने नाम किया है।

इन एयरपोर्ट प्रॉजेक्ट के साथ ही अडानी ग्रुप का एविएशन इंडस्ट्री में प्रवेश हो जाएगा। यह ग्रुप एयरपोर्ट बिजनस में घुसने का प्रयास कर रहा है। कंपनी मुंबई एयरपोर्ट में जीवीके की हिस्सेदारी खरीदने के लिए उसके साथ बातचीत कर रही है। एएआई ने विजेता का चयन ‘मंथली पर-पैसेंजर फी’ के आधार पर किया है।

अधिकारियों ने बताया कि अन्य बोलीदाताओं की तुलना में अडानी ग्रुप की बोलियां ‘बेहद आक्रामक’ थीं। छह हवाईअड्डों के संचालन के लिए 10 कंपनियों की तरफ से कुल 32 तकनीकी बोलियां दी गई थीं।

AAI अधिकारी के मुताबिक इन एयरपोर्ट के संचालन के लिए 10 कंपनियों की तरफ से कुल 32 तकनीकी बोलियां दी गई थीं। अहमदाबाद और जयपुर एयरपोर्ट के लिए क्रमश: 7-7 बोलियां लगाई गई थीं.वहीं लखनऊ और गुवाहाटी एयरपोर्ट के लिए 6-6 जबकि मेंगलुरु और त्रिवेंद्रम एयरपोर्ट के लिए क्रमश: 3-3 बोलियां लगाई गईं।

हालांकि गुवाहाटी एयरपोर्ट को लेकर फैसला मंगलवार को होने की उम्‍मीद है। इन एयरपोर्ट प्रोजेक्ट के साथ ही अडानी ग्रुप का एविएशन इंडस्ट्री में प्रवेश हो जाएगा। अडानी ग्रुप के अलावा इस नीलामी प्रक्रिया में GMR, कोचीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट, पीएनसी इंफ्रा, NIIF, AMP, आई-इन्‍वेस्‍टमेंट, केएसआईडीसी और ऑटोस्‍ट्राडे इंफ्रा भी शामिल थे।

Join us on Telegram for more.
Fast news at fingertips. Everytime, all the time.
प्रदेशभर की हर बड़ी खबरों से अपडेट रहने CGTOP36 के ग्रुप से जुड़िएं...
ग्रुप से जुड़ने नीचे क्लिक करें

Related Articles

Back to top button