बलौदाबाजार – डायरिया से हुई यूवक की मौत, 35 से ज्यादा लोग अस्पतालों में भर्ती, इलाके में फैला डायरिया – INH24 |
छत्तीसगढ़

बलौदाबाजार – डायरिया से हुई यूवक की मौत, 35 से ज्यादा लोग अस्पतालों में भर्ती, इलाके में फैला डायरिया – INH24


बलौदाबाजार जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पलारी में एक युवक की मौत के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है। पलारी तहसील क्षेत्र के ग्राम जारा में बीती रात से डायरिया से पीड़ित युवक की सुबह 8:30 बजे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पलारी में इलाज के दौरान मौत हो गई है।

बता दें कि बलौदा बाजार के पलारी तहसील क्षेत्र के कई गांव डायरिया से पीड़ित हैं। ग्राम बलौदी में पिछले दिनों 50 से अधिक डायरिया से पीड़ित लोगों के मिलने के बाद सीएमएचओ डॉक्टर एमपी महिश्वर ने ग्राम का दौरा किया था। साथ ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और विभिन्न विभाग के अधिकारियों को बीमारी रोकने के निर्देश दिए थे।

मौसम के बदलते मिजाज और तेज गर्मी ने अब अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। तापमान में उतार चढाव की वजह से बलौदा बाजार जिले में डायरिया, वायरल बुखार, खांसी-जुकाम पैर पसारना शुरू कर दिया है। मौसमी बीमारियों से पीड़ित मरीज अस्पताल पहुंच रहे हैं। मौसमी बीमारी की वजह से अब लोगों की मौत होने लगी है। ऐसा ही एक मामला बलौदा बाजार जिले के पलारी तहसील क्षेत्र में आने वाले ग्राम पंचायत जारा से आई है। जहां के 27 वर्षीय युवक गोपाल यादव की मौत डायरिया के कारण हो गई।

जानकारी आ रही है कि युवक को रात 1.30 बजे से उल्टी दस्त शुरू हुई थी, घर पर ही युवक का इलाज चल रहा था, हालत बिगड़ने पर परिजन सुबह 8 बजे युवक को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पलारी पहुंचे, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

स्वास्थ्य केंद्र पलारी में 25 से अधिक मरीज भर्ती

बता दें कि पलारी तहसील क्षेत्र में पिछले एक सप्ताह से अलग अलग गांव में डायरिया का प्रकोप फैल रहा है। सबसे पहले ग्राम पंचायत बलौदी में डायरिया फैलने का मामला सामने आया था, उसके बाद से लगातार क्षेत्र में उल्टी दस्त से पीड़ित मरीजों की संख्या अस्पताल में बढ़ रही है। वर्तमान में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पलारी में 25 से अधिक मरीज भर्ती हैं। सीएमएचओ डॉ एमपी महिश्वर ने बताया कि ग्राम जारा में एक बुजुर्ग बस बीमार मिला है। एक युवक की मौत हुई है। युवक आज ही सुबह इलाज के लिए अस्पताल पहुंचा था।



Source link

Related Articles

Back to top button