12 May 2024 – जानिए आज का राहुकाल और शुभ अशुभ समय, आज का पंचांग – INH24 |
धर्म - अध्यात्मराशिफल - अध्यात्म

12 May 2024 – जानिए आज का राहुकाल और शुभ अशुभ समय, आज का पंचांग – INH24


Aaj Ka Panchang 12 May 2024: 12 मई को वैशाख शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि और रविवार का दिन है। पंचमी तिथि रविवार देर रात 2 बजकर 4 मिनट तक रहेगी। आज सुबह 8 बजकर 34

मिनट तक धृति योग रहेगा। साथ ही 12 मई को सुबह 10 बजकर 29 मिनट तक आर्द्रा नक्षत्र रहेगा, उसके बाद पुनर्वसु नक्षत्र लग जाएगा। बीते 10 मई की शाम 6 बजकर 42 मिनट पर बुध मेष राशि में प्रवेश कर चुके हैं।  आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए रविवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय।

12 मई 2024 का शुभ मुहूर्त

वैशाख शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि- 12 मई 2024 को देर रात 2 बजकर 4 मिनट तक

धृति योग- 12 मई 2024 को सुबह 8 बजकर 34 मिनट तक

आर्द्रा नक्षत्र- 12 मई 2024 को सुबह 10 बजकर 29 मिनट तक आर्द्रा नक्षत्र रहेगा, उसके बाद पुनर्वसु नक्षत्र लग जाएगा

राहुकाल का समय

दिल्ली- शाम 05:21 से शाम 07:02 तक

मुंबई- शाम 05:27 से शाम 07:04 तक

चंडीगढ़- शाम 05:25 से शाम 07:07 तक

लखनऊ- शाम 05:04 से शाम 06:44 तक

भोपाल- शाम 05:13 से शाम 06:52 तक

कोलकाता- शाम 04:29 से शाम 06:07 तक

अहमदाबाद- शाम 05:32 से शाम 07:11 तक

चेन्नई- शाम 04:51 से शाम 06:26 तक

सूर्योदय-सूर्यास्त का समय

सूर्योदय- सुबह 5:31 am

सूर्यास्त- शाम 7:02 pm

शुभ समय (शुभ मुहूर्त)

अभिजीत – 11:50:33 से 12:44:39 तक

दिशा शूल- पश्चिम

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त – 17:15:09 से 18:09:15 तक

कुलिक – 17:15:09 से 18:09:15 तक

कंटक – 10:02:21 से 10:56:27 तक

राहु काल – 17:21:54 से 19:03:20 तक

कालवेला / अर्द्धयाम – 11:50:33 से 12:44:39 तक

यमघण्ट – 13:38:45 से 14:32:51 तक

यमगण्ड – 12:17:36 से 13:59:02 तक

गुलिक काल – 15:40:28 से 17:21:54 तक

सूर्य व चन्द्र से संबंधित गणनाएं

सूर्योदय- 05:31:52

सूर्यास्त- 19:03:20

चन्द्र राशि- मिथुन – 29:05:53 तक

चन्द्रोदय- 08:52:59

चन्द्रास्त – 23:36:00

ऋतु- ग्रीष्म

हिंदू पंचांग का उपयोग धार्मिक और सामाजिक कार्यों के लिए मुहूर्तों का चयन, उत्सवों के तारीखों का निर्धारण, शुभ कार्यों के लिए समय निर्धारण, ग्रहण और सूर्यग्रहण की तारीखों का निर्धारण, और धार्मिक त्योहारों के महत्वपूर्ण तिथियों के लिए किया जाता है.



Source link

Related Articles

Back to top button